Ladakh Galwan Valley Martyrs Garden Update; ITBP Indo-Tibetan Border Police Plants Over 1,000 Saplings | गलवान घाटी के शहीदों की याद में गार्डन तैयार होगा, ITBP ने एक हजार पौधे लगाए


  • Hindi News
  • National
  • Ladakh Galwan Valley Martyrs Garden Update; ITBP Indo Tibetan Border Police Plants Over 1,000 Saplings

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
ITBP के जवान झड़प वाली जगह से कुछ किलोमीटर दूर बड़ी संख्या में पौधे लगा रहे हैं। इस इलाके को गलवान के बलवान नाम दिया गया है। - Dainik Bhaskar

ITBP के जवान झड़प वाली जगह से कुछ किलोमीटर दूर बड़ी संख्या में पौधे लगा रहे हैं। इस इलाके को गलवान के बलवान नाम दिया गया है।

गलवान घाटी याद है। वही, जहां चीनी सैनिकों के साथ झड़प में हमारे 20 सैनिकों ने शहादत दी थी। उन शहीदों की याद में झड़प वाली जगह से कुछ किलोमीटर दूर एक गार्डन बनाया जाएगा। भारत-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) ने इसके लिए प्लांटेशन ड्राइव शुरू कर दी है।

इस जगह को ‘गलवान के बलवान’ नाम दिया गया है। यहां एक हजार से ज्यादा पौधे लगाए जा चुके हैं। जल्द ही इस जगह पर शहीदों की याद में गार्डन तैयार कर लिया जाएगा। यह अभियान अगले साल भी जारी रहेगा।

-30 डिग्री में जिंदा रहने वाले पौधे लगाए

ITBP के मुताबिक, यह इलाका पूरी तरह बंजर है। पहले यहां एक पौधा तक नहीं था। यहां सर्दियों में तापमान माइनस 30 डिग्री तक चला जाता है। इस वजह से ऐसे पौधे मंगाए गए, जो ऐसे ठंडे माहौल में भी बचे रह सकें।

इस ड्राइव की शुरुआत गृह मंत्री अमित शाह ने की थी। इसमें ITBP के अलावा सभी सेंट्रल पुलिस फोर्स जैसे CRPF, BSF, CISF और सशस्त्र सीमा बल शामिल हैं। ITBP के अधिकारियों ने बताया कि हमने पौधे लगाना शुरू कर दिया है। अब तक यहां एक हजार से ज्यादा पौधे लगा चुके हैं। इसके लिए हमने लोकल पौधे लिए हैं। ये पौधे यहां के मौसम में भी जिंदा रह सकते हैं।

जून में भारतीय और चीनी सैनिक आपस में भिड़े थे

भारत और चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख की गलवान वैली में 15-16 की रात हिंसक झड़प हुई थी। इसमें कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबू समेत 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। ऐसी खबरें आईं थीं कि इस झड़प में चीन के भी 43 सैनिक मारे गए थे। हालांकि, उसने इसकी पुष्टि नहीं की।

इसके बाद दोनों देशों ने अपने हजारों सैनिक, फाइटर जेट्स और भारी हथियार तैनात कर दिए थे। तभी से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर तनाव बना हुआ है।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: