Mutant Covid: Six labs identified for genome sequencing of positive UK flyers | केंद्र ने राज्यों से कहा- UK से लौटे हर आदमी का टेस्ट कराएं, पॉजिटिव मिले तो 6 लैब में होगी नए स्ट्रेन की जांच


  • Hindi News
  • National
  • Mutant Covid: Six Labs Identified For Genome Sequencing Of Positive UK Flyers

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
फोटो मुंबई एयरपोर्ट की है। यहां यूके से लौटने वाले लोगों को क्वारैंटाइन किया जा रहा है। - Dainik Bhaskar

फोटो मुंबई एयरपोर्ट की है। यहां यूके से लौटने वाले लोगों को क्वारैंटाइन किया जा रहा है।

केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (UT) से कहा है कि वे ब्रिटेन (UK) से लौटने वाले हर शख्स की कोरोना जांच कराएं। अगर कोई पॉजिटिव मिलता है, तो नए स्ट्रेन की पहचान के लिए उसके सैंपल की फिर से जांच होगी। इसके लिए देश की 6 अलग-अलग लैब्स की पहचान की गई है। सभी राज्यों और UT को इन लैब्स की जानकारी दी गई। केंद्र ने कहा कि अगर ज्यादा लोगों की जांच होनी होगी, तो इन लैब्स की संख्या भी बढ़ा दी जाएगी।

बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्य और केंद्र शासित राज्य के अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। केंद्र ने कहा कि राज्य सरकारें एयर फेसिलिटी एंड इमीग्रेशन डिपार्टमेंट से संपर्क करके UK से आने वाले लोगों की डिटेल्स ले सकती हैं। अलग-अलग राज्यों की ओर से जारी सूचना के मुताबिक, अब तक UK से लौटे 30 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। नए स्ट्रेन का पता लगाने के लिए इनके सैंपल की जांच की जा रही है।

इन लैब्स में होगी नए स्ट्रेन की पहचान

  • CSIR इंस्टीट्यूट ऑफ जिनॉमिक्स एंड इंटरग्रेटिव बायोलॉजी, नई दिल्ली
  • CSIR सेंटर फॉर सेलुलर एंड मॉलीक्यूलर बायोलॉजी, हैदराबाद
  • DBT इंस्टीट्यूट ऑफ लाइफ सांइसेज, भुवनेश्वर
  • InStem-NCBS, बेंगलुरु
  • DBT नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जिनॉमिक्स, पश्चिम बंगाल
  • ICMR नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे

पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स का टेस्ट जरूरी
सरकार ने ब्रिटेन से आईं फ्लाइट्स के सभी पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स का RT-PCR टेस्ट जरूरी कर दिया है। दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (IGI) पर इसके लिए जरूरी इंतजाम किए गए हैं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से कहा कि वह अपने दायरे में आने वाले एयरपोर्ट्स की हेल्थ टीमों से मिलकर हाल ही में जारी किए गए SOP का सख्ती से पालन कराएं।

ब्रिटेन से एक महीने में 50 हजार 832 लोग आए, सभी की तलाश की जाएगी

ब्रिटेन में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन को फैलने से रोकने की कवायद तेज हो गई है। भारत ने पिछले एक महीने (25 नवंबर से 22 दिसंबर तक) ब्रिटेन से भारत आए सभी लोगों की लिस्ट तैयार कर ली है। यह लिस्ट राज्यों के साथ साझा की जा रही है। केंद्र के अनुसार, एक महीने में कुल 50 हजार 832 लोग ब्रिटेन से भारत आए हैं। सबसे ज्यादा 16 हजार 281 लोग दिल्ली में उतरे हैं। इन सभी लोगों की तलाश शुरू हो गई है।

मंगलवार को 1,500 से ज्यादा लोग ब्रिटेन से भारत आए। इनमें 24 लोग संक्रमित मिले। यह संख्या बढ़ भी सकती है, क्योंकि सभी की टेस्ट रिपोर्ट नहीं आई है। अब तक भारत समेत कुल 49 देश ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर रोक लगा चुके हैं।

31 दिसंबर तक ब्रिटेन की उड़ानें सस्पेंड
मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन ने सोमवार को ऐलान किया था कि ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट्स 23 से 31 दिसंबर तक सस्पेंड रहेंगी। वहां कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: