Gandhinagar railway station, built under Five Star Hotel, ‘Prayer room’ and ‘Baby feeding room’ at a station for the first time in the country. | फाइव स्टार होटल के नीचे बना गांधीनगर का रेलवे स्टेशन, देश में पहली बार किसी स्टेशन पर प्रार्थना और बेबी फीडिंग रूम


  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Gandhinagar Railway Station, Built Under Five Star Hotel, ‘Prayer Room’ And ‘Baby Feeding Room’ At A Station For The First Time In The Country.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गांधीनगरएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
फाइव स्टार होटल के नीचे बना गांधीनगर रेलवे स्टेशन। - Dainik Bhaskar

फाइव स्टार होटल के नीचे बना गांधीनगर रेलवे स्टेशन।

  • फाइव स्टार होटल में पहुंचने के लिए स्टेशन के अंदर से ही एक गेट, जिससे यात्री ट्रेन से उतरते ही होटल पहुंच सके
  • स्टेशन में कई आधुनिक सुविधाओं के अलावा प्राथमिक उपचार के लिए एक छोटा सा अस्पताल भी बन रहा है

गुजरात की राजधानी गांधीनगर रेलवे स्टेशन के डेवलपमेंट का कार्य अंतिम चरणों में है। अब अगले महीने जनवरी के तीसरे ये चौथे सप्ताह में इसका उद्घाटन किए जाने की संभावना है। इस स्टेशन की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह देश का पहला ऐसे रेलवे स्टेशन है, जहां अलग से प्रार्थना रूम और बेबी फीडिंग रूम बनाया गया है। फाइव स्टार होटल बिल्डिंग के नीचे ही बने स्टेशन में कई तरह की आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाई गई हैं।

फाइव स्टार होटल में जाने के लिए स्टेशन के अंदर से भी एक गेट
इस बिल्डिंग के नीचे मुख्य प्रवेश द्वार के पास टिकट विंडो के बगल में ही लिफ्ट और एस्केलेटर लगाया गया है, जिससे यात्री को प्लेटफॉर्म तक पहुंचने में कोई दिक्कत न हो। टिकट विंडो तक पहुंचने के लिए यात्री को डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर से गुजरना होगा। इतना ही नहीं, एंट्री गेट के पास ही फाइव स्टार में एंट्री करने का भी एक गेट लगाया गया है, जिससे यात्री ट्रेन से उतरने के बाद सीधे यहां से होटल में पहुंच सकेगा।

स्टेशन में बना प्रार्थना रूम।

स्टेशन में बना प्रार्थना रूम।

प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल भी
नई बिल्डिंग में एंट्री गेट, बुकिंग, लिफ्ट-एस्कलेटर, बुक स्टॉल, खाने-पीने के स्टॉल समेत सभी सुविधाओं के अलावा प्राथमिक उपचार के लिए एक छोटा सा अस्पताल भी बन रहा है। इसके बाद अब स्टेशन की पुरानी इमारत खाली कर दी जाएगी। यहां सिर्फ स्टेशन मास्टर और रेलवे का अन्य स्टाफ ही रहेगा। पूरा स्टेशन CCTV कैमरों की निगरानी में रहेगा।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: