Coronavirus Vaccine In Bihar; Will Leaders Vaccinated On 16th Januray? Here All You Need To Know | 16 को वैक्सीन का भी फीता काटेंगे या खुद लेकर मिसाल बनेंगे नेता-मंत्री, उठने लगी आवाज

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Coronavirus Vaccine In Bihar; Will Leaders Vaccinated On 16th Januray? Here All You Need To Know

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना14 दिन पहलेलेखक: मनीष मिश्रा

  • कॉपी लिंक
आम जन की राय है कि पहला डोज अगर मुख्यमंत्री या फिर स्वास्थ्य मंत्री लेते हैं तो विपक्ष को करारा जवाब मिल जाएगा। - Dainik Bhaskar

आम जन की राय है कि पहला डोज अगर मुख्यमंत्री या फिर स्वास्थ्य मंत्री लेते हैं तो विपक्ष को करारा जवाब मिल जाएगा।

  • लोगों ने कहा- अगर मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को वैक्सीन लगाकर इसका शुभारंभ किया जाए तो प्रदेश में बड़ा संदेश जाएगा

आखिरकार यह भी खबर आ गई कि बिहार के लिए वैक्सीन कैसे आ रही है। लेकिन, इसी के साथ यह सवाल भी सामने आ गया है कि नेता-मंत्री वैक्सीनेशन का उद्घाटन फीता काटकर करेंगे या खुद वैक्सीन लेकर ? वैक्सीन के प्रति विश्वास-अविश्वास को लेकर पूरे बिहार से आवाज उठ रही है। भास्कर ने ऐसी ही आवाज सुनकर लोगों से जानना चाहा तो लोगों ने यह भी कहा कि हेल्थ मिनिस्टर को भी हेल्थ वर्कर कहा जाना चाहिए और इस विभाग के हर अधिकारी को कोरोना वारियर्स मानते हुए वैक्सीनेशन के प्रति विश्वास जगाने के लिए खुद आगे आना चाहिए।

मुख्यमंत्री को वैक्सीन लगाकर किया जाए शुभारंभ

पटना के सामाजिक कार्यकर्ता और पर्यावरण प्रहरी के नाम से पहचान बनाने वाले रिटायर्ड आर्मी मैन संजय पांडेय का कहना है कि वैक्सीन का इंतजार हर किसी को है। इसका शुभारंभ ऐसा होना चाहिए जिससे बिहार के जन-जन तक बड़ा संदेश पहुंचे। अगर मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री को वैक्सीन लगाकर इसका शुभारंभ किया जाए तो प्रदेश में बड़ा संदेश जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री प्रदेश के हर जन के स्वास्थ्य के मुखिया और सुपर बॉस हैं, अगर इन्हें वैक्सीन देकर वैक्सीनेशन का उद्घाटन किया जाएगा तो प्रदेश ही नहीं देश में बड़ा संदेश जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री और प्रधान सचिव डोज लेंगे तो लोगों का विश्वास बढ़ेगा

मां वैष्णो देवी सेवा समिति के कन्हैया की भी राय है कि जिस तरह से किसी भी बड़े काम का फीता काटकर नेता मंत्री उद्घाटन करते हैं, ठीक इसी तरह से ही कोरोना वैक्सीन का भी शुभारंभ स्वास्थ्य मंत्री को फीता काटकर नहीं वैक्सीन लेकर करना चाहिए। इसके जो संदेश जाएगा इसका असर प्रदेश के हर इंसान पर पड़ेगा। कोरोना वैक्सीन के प्रति लोगों का विश्वास भी खूब बढ़ेगा। कन्हैया का कहना है कि वैक्सीन का पहला डोज या तो स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को लगनी चाहिए।

फीता काटकर उद्घाटन करने पर होगी आलोचना

सामाजिक कार्यकर्ता धनवंत सिंह राठौर का कहना है कि अगर फीता काटकर करते हैं तो कहीं न कहीं ऐसा संदेश जाएगा कि उन्हें टीके पर विश्वास नहीं। ऐसे में उनकी आलोचना भी हो सकती है। ऐसे में वैक्सीन का शुभारंभ खुद वैक्सीन लेकर भी करना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री अगर यह काम करें तो अच्छा है। प्राथमिकता सीएम को होना चाहिए। अच्छा रहेगा कि स्वास्थ्य मंत्री को ही कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लेकर इस बड़े अभियान का शुभारंभ करना चाहिए। यह बड़ा संदेश पूरे प्रदेश में जाएगा, इससे लोगों का काफी विश्वास होगा।

स्वास्थ्य मंत्री को तो ट्रायल में ही वैक्सीन लेना चाहिए था

बिहार विकलांग अधिकार मंच से जुड़कर दिव्यांगों के लिए काम करने वाले राकेश का कहना है कि वैक्सीन का ट्रायल ही पहले स्वास्थ्य मंत्री से होना चाहिए था। पटना एम्स में वालंटियर नहीं मिल रहे थे और इसके बाद भी कोई नेता या मंत्री आगे नहीं आया। इससे लोगों में वैक्सीन के प्रति अविश्वास बढ़ता है। अब जब वैक्सीन ट्रायल के बाद आ गई है तो इसका पहला डोज भी स्वास्थ्य मंत्री को लेना चाहिए। अगर CM या फिर हेल्थ मिनिस्टर कोरोना की पहली वैक्सीन लेते हैं तो प्रदेश के हर व्यक्ति का इस पर विश्वास बढ़ेगा।

विपक्ष का हमला शांत करेगा नेता-मंत्री का पहला डोज

तेज प्रताप के एक बयान ने राजनीतिक गलियारे की हलचल बढ़ा दी थी। तेज प्रताप यादव ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेने को कहा था, जिससे इसका रिएक्शन पता चल जाए। देश में कोरोना वैक्सीन को लेकर कई ऐसे बयान आए जिससे सत्ता पक्ष ने विपक्ष ने हमला किया। बिहार में भी ऐसे ही बयान से माहौल गर्म रहा है। ऐसे में आम जन की राय है कि पहला डोज अगर मुख्यमंत्री या फिर स्वास्थ्य मंत्री लेते हैं तो विपक्ष को करारा जवाब मिल जाएगा। विश्वास भी लोगों में बढ़ जाएगा।

लोगों ने कहा- वैक्सीन लेकर नेता-मंत्री करें शुभारंभ

पटना के किदवईपुरी की रहने वाली सोशल वर्कर रितु चौबे का कहना है कि वैक्सीन का डोज तो नेता-मंत्री को ही लेकर शुभारंभ करना चाहिए। इससे आम जनता का विश्वास बढ़ने के साथ विपक्ष को भी जवाब मिलेगा। राजीव नगर के संगम का भी यही मत है कि वैक्सीन का पहला डोज लेकर सीएम या स्वास्थ्य मंत्री को शुभारंभ करना चाहिए। केसरी नगर के राहुल, आशियाना नगर के रोहित, दीघा रवि सहित दर्जनों लोगों से दैनिक भास्कर ने बात की सभी का एक ही मत था कि कोरोना वैक्सीन का शुभारंभ फीता काटकर नहीं डोज लेकर स्वास्थ्य मंत्री या सीएम को करना चाहिए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: