Currency in circulation rises by Rupees 3.23 lakh crore in first nine months of FY21 | चालू वित्त वर्ष में सर्कुलेशन में आई 13% ज्यादा करेंसी, पहले नौ महीनों में 3.23 लाख करोड़ रु. की बढ़ोतरी

  • Hindi News
  • Business
  • Currency In Circulation Rises By Rupees 3.23 Lakh Crore In First Nine Months Of FY21

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली15 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन में लोगों ने ज्यादा नकदी जमा की
  • 1 जनवरी 2021 को सर्कुलेशन में 27.70 लाख करोड़ रुपए की करेंसी थी
  • कैलेंडर इयर 2020 में सर्कुलेशन में 5 लाख करोड़ रुपए की करेंसी बढ़ी

कोविड-19 महामारी की अनिश्चितता के कारण सतर्कता बरतते हुए लोगों ने नकदी को प्राथमिकता दी है। यही कारण है कि चालू वित्त वर्ष के पहले नौ महीनों में सर्कुलेशन में 13% ज्यादा करेंसी आ गई है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के ताजा डाटा के मुताबिक, 1 जनवरी 2021 को सर्कुलेशन में 27,70,315 करोड़ रुपए की करेंसी थी। जबकि 31 मार्च 2020 को 24,47,312 करोड़ रुपए की करेंसी सर्कुलेशन में थी। एक साल पहले समान अवधि में सर्कुलेशन में आई करेंसी में 6% की ग्रोथ रही थी।

चालू वित्त वर्ष में उच्च स्तर पर पहुंची करेंसी इन सर्कुलेशन

केयर रेटिंग्स के चीफ इकोनॉमिस्ट मदन सबनवीस का कहना है कि चालू वित्त वर्ष में करेंसी इन सर्कुलेशन उच्च स्तर पर पहुंच गई है। सबनवीस का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान किसी भी जरूरत से निपटने के लिए लोगों ने ज्यादा करेंसी जमा की थी। उन्होंने कहा कि जब भी संकट जैसी स्थिति पैदा हुई है, तब घरों में नकदी जमा करने की प्रवृत्ति रही। यह कारण है कि कैश की मांग में बढ़ोतरी रही है।

RBI की एनुअल रिपोर्ट में भी कही गई थी करेंसी बढ़ने की बात

RBI ने अगस्त 2020 में 2019-20 के लिए एनुअल रिपोर्ट जारी की थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि कोविड-19 महामारी की अनिश्चितता के कारण करेंसी की मांग बढ़ने लगी है। हालांकि, RBI ने नकदी की बढ़ी मांग से निपटने के लिए कई उपाय उठाए थे।

कैलेंडर इयर 2020 में 5 लाख करोड़ रुपए की करेंसी बढ़ी

RBI के डाटा के मुताबिक, कैलेंडर इयर 2020 में करेंसी इन सर्कुलेशन में 22.1% की बढ़ोतरी हुई है। सर्कुलेशन में 5,01,405 करोड़ रुपए की करेंसी बढ़कर 1 जनवरी 2021 को 27,70,315 करोड़ रुपए हो गई है। करेंसी इन सर्कुलेशन में बैंक नोट और सिक्कों की गणना की जाती है। मौजूदा समय में RBI 2,5,10,20,50,100,200,500 और 2000 रुपए के नोट जारी करता है। इसके अलावा 50पैसा, 1,2,5,10 और 20 रुपए के सिक्कों की गणना भी करेंसी में होती है।

वित्त वर्ष 2020 में सर्कुलेशन में शामिल बैंक नोट की वैल्यू 14.7% बढ़ी

RBI की एनुअल रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020 में सर्कुलेशन में शामिल बैंक नोट की वैल्यू 14.7% और वॉल्यूम में 6.6% की बढ़ोतरी रही है। वैल्यू के लिहाज से मार्च 2020 के अंत में सर्कुलेशन में शामिल कुल बैंक नोट में 500 रुपए और 2000 रुपए के नोट की 83.4% हिस्सेदारी थी। वहीं, वॉल्यूम के लिहाज से सर्कुलेशन में शामिल कुल बैंक नोट में 10 और 100 रुपए के नोट की 43.4% हिस्सेदारी थी। इस अवधि में सर्कुलेशन में 500 रुपए के बैंक नोट में तेज बढ़ोतरी रही थी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: