Imran Khan Fawad Chaudhry Maryam Nawaz| Imran Khan Minister Fawad Chaudhry hits out Maryam Nawaz Pakistan Political Updates. | फवाद चौधरी बोले- मरियम ने कभी किचन नहीं संभाला, वे देश क्या चलाएंगी

  • Hindi News
  • International
  • Imran Khan Fawad Chaudhry Maryam Nawaz| Imran Khan Minister Fawad Chaudhry Hits Out Maryam Nawaz Pakistan Political Updates.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वॉशिंगटनएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
बिलावल भुट्टो के साथ मरियम नवाज (बाएं ग्रीन सूट में )। पाकिस्तान के साइंस एंड टेक्नोलॉजी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि इन दोनों नेताओं राजनीति विरासत में मिली है और इन्होंने कभी जनता के मुद्दों पर संघर्ष नहीं किया। चौधरी के मुताबिक, मरियम और बिलावल सिर्फ प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं। - Dainik Bhaskar

बिलावल भुट्टो के साथ मरियम नवाज (बाएं ग्रीन सूट में )। पाकिस्तान के साइंस एंड टेक्नोलॉजी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि इन दोनों नेताओं राजनीति विरासत में मिली है और इन्होंने कभी जनता के मुद्दों पर संघर्ष नहीं किया। चौधरी के मुताबिक, मरियम और बिलावल सिर्फ प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं।

पाकिस्तान सरकार और विपक्ष में टकराव बढ़ता जा रहा है। अब इमरान खान के मंत्री फवाद चौधरी ने विपक्षी गठबंधन की एक नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज पर टिप्पणी की है। चौधरी ने कहा- मरियम ने जिंदगी में कभी अपने घर का किचन नहीं संभाला। वे देश क्या संभालेंगी। उधर, 11 विपक्षी दलों के गठबंधन के नेता मौलाना फजल-उर-रहमान ने एक बार फिर फौज का नाम लिए बिना उस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा- मुल्क की बर्बादी के लिए जितने इमरान जिम्मेदार हैं, उतने ही उन्हें वहां तक पहुंचाने वाले।

मरियम की ख्वाहिश पर तंज
इस्लामाबाद में सोमवार को फवाद चौधरी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान विपक्ष के इस्लामाद लॉन्ग मार्च पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में चौधरी ने कहा- मरियम पूर्व प्रधानमंत्री की बेटी हैं। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी में कभी किचन की जिम्मेदारी नहीं संभाली। अब वे देश चलाने का ख्वाब देख रही हैं। वे तो वैसे भी हमेशा अपने पिता के साथ उनके ही घर में रहीं। यही हाल, अपोजिशन के एक और नेता बिलावल भुट्टो जरदारी का है। उन्होंने भी जिंदगी में कभी एक दिन भी काम नहीं किया। अब ये दोनों पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। अवाम की इससे ज्यादा बेइज्जती और क्या होगी।

दबाव में है सरकार
11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) ने इमरान खान से 31 दिसंबर तक इस्तीफा देने की मांग की है। विपक्ष के मुताबिक, अगर 31 तक इमरान इस्तीफा नहीं देते तो लाखों लोग राजधानी इस्लामाबाद तक मार्च निकालेंगे और फिर वहीं कंटेनर पर धरना देंगे, जैसा इमरान ने 2018 में किया था।

फौज पर निशाना
विपक्षी गठबंधन के नेता मौलाना रहमान ने एक बार फिर बिना नाम लिए फौज पर तंज कसा। रहमान ने सोमवार को कहा- पाकिस्तान के इतिहास में इतनी गैरजिम्मेदार और नाकाबिल सरकार पहले कभी नहीं आई। इस सरकार को अवाम के मर्जी के खिलाफ सत्ता में लाया गया। इसलिए, मुल्क की तबाही और बर्बादी के लिए जितनी जिम्मेदार यह सरकार है, प्रधानमंत्री हैं, उतने ही जिम्मेदार वे लोग हैं जो इसे सत्ता में लाए और अब तक बचाते आए हैं। लेकिन, अब यह चंद दिनों की मेहमान है।

इमरान जब से प्रधानमंत्री बने हैं, तब से विपक्ष आरोप लगाता आया है कि वे धांधली और फर्जीवाड़े के जरिए सत्ता तक पहुंचे। इमरान के बारे में कहा जाता है कि वे फौज के सहारे सत्ता में आए हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: