Incident of mob lynching in Patna ; Student beaten as kidnapper | कार में पहले से थे 3 दोस्त, सड़क पर पैदल जा रहे चौथे दोस्त को जबरन बैठाया तो किडनैपर समझ भीड़ ने पीटा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना14 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छात्रों को पिटने से बचाया। - Dainik Bhaskar

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छात्रों को पिटने से बचाया।

  • पटना के शास्त्रीनगर थाना के पटेल नगर का है मामला
  • पुलिस अगर मौके पर नहीं पहुंचती तो हो जाती बड़ी घटना

किडनैपिंग का मामला समझ पटना में तीन लड़कों के साथ मॉब लिंचिंग की घटना हो जाती। पुलिस के समय पर पहुंचने की वजह से बड़ी घटना होते-होते बच गई। मामला राजधानी के पटेल नगर का है। RPS रेसिडेंशियल स्कूल की 9वीं कक्षा का छात्र निशांत अपने ग्रुप के 7-8 लड़कों के साथ जा रहा था। उससे एक क्लास सीनियर आदित्य अपने तीन साथियों के साथ हुंडई कार से आ रहा था। निशांत को देखकर आदित्य ने गाड़ी रोकी और मजाक में उसे गाड़ी में बैठा लिया।

जिस वक्त आदित्य ने निशांत को तेजी में बिठाया, उसे देख स्थानीय लोगों को लगा कि मामला किडनैपिंग का है। इसके बाद शोर मच गया। तीनों लड़कों को लोगों की भीड़ ने पकड़ लिया। इस दरम्यान आदित्य के साथ गाड़ी में बैठे अभिषेक की भीड़ ने पिटाई भी कर दी। 18 साल का अभिषेक आरा का रहने वाला है और पटना में कॉम्पीटिशन की तैयारी करता है। गाड़ी में बैठा तीसरा लड़का राजन मोतिहारी का रहने वाला है और यहां होस्टल में रह कर प्राइवेट स्कूल में 10th की पढ़ाई करता है।

मामले की जानकारी मिलते ही थानेदार विमलेन्दु कुमार और उनकी टीम समय पर पहुंच गई। सबसे पहले भीड़ के बीच से अभिषेक और फिर बाकी दोनों लड़कों को बचाया। अगर पुलिस टीम मौके पर नहीं पहुंचती तो किडनैपिंग के आरोप में मॉब लिंचिंग की बड़ी घटना हो जाती। तीनों लड़कों को पुलिस फिलहाल थाना पर ले आई है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: