Joe Biden Donald Trump| Joe Biden Kamala Harris Oath Taking Ceremony Mike Pence will Attend but Donald Trump Not. | जो बाइडेन के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस, ट्रम्प ने जाने से इनकार किया था

  • Hindi News
  • International
  • Joe Biden Donald Trump| Joe Biden Kamala Harris Oath Taking Ceremony Mike Pence Will Attend But Donald Trump Not.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वॉशिंगटन14 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस के साथ राष्ट्रपति ट्रम्प। ट्रम्प ने प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में जाने से इनकार कर दिया है। हालांकि, पेंस इसमें शिरकत करेंगे। (फाइल) - Dainik Bhaskar

वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस के साथ राष्ट्रपति ट्रम्प। ट्रम्प ने प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में जाने से इनकार कर दिया है। हालांकि, पेंस इसमें शिरकत करेंगे। (फाइल)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भले ही प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन की इनॉगरेशन डे सेरेमनी में हिस्सा नहीं लेंगे, लेकिन उपराष्ट्रपति माइक पेंस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। अमेरिकी मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से न्यूज एजेंसी ने यह जानकारी दी है। बाइडेन और कमला हैरिस का शपथ ग्रहण समारोह 20 जनवरी को होगा। अमेरिका में इसे इनॉगरेशन डे सेरेमनी कहा जाता है।

ट्रम्प और पेंस के रिश्तों में खटास
दो दिन पहले ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रम्प का पर्सनल अकाउंट बंद कर दिया था। इसके पहले ही ट्रम्प ने साफ कर दिया था कि वे बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत नहीं करेंगे। हालांकि, वाइस प्रेसिडेंट माइक पेंस ने ट्रम्प से अलग राय रखी। पेंस ने यह भी साफ कर दिया था कि 6 जनवरी को इलेक्टोरल कॉलेज की वोटों की गिनती के दौरान जो हंगामा हुआ, वे उसकी निंदा करते हैं। पेंस ने इसे लोकतंत्र पर हमला करार दिया, इसे अमेरिकी इतिहास का काला दिन बताया। बाद में ट्रम्प ने पेंस के रवैये को पक्षपाती बताया था।

बाइडेन खुश
बाइडेन ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में साफ कर दिया था कि वे ट्रम्प के न आने से खुश हैं और पेंस की मौजूदगी का स्वागत करते हैं। CNN की रिपोर्ट के मुताबिक, पेंस ने बाइडेन की ट्रांजिशन टीम को मैसेज भेज दिया है कि वे शपथ ग्रहण समारोह में जरूर आएंगे। बाइडेन ने ट्रम्प को अमेरिकी इतिहास का अब तक का सबसे खराब प्रेसिडेंट करार दिया था। साथ ही ये भी कहा था कि वे राष्ट्रपति बनने लायक थे ही नहीं।
ट्रम्प की नाराजगी के बावजूद पेंस ने बाइडेन और कमला हैरिस को जीत की बधाई दी थी। अमेरिकी कांग्रेस की मीटिंग के दौरान भी उन्होंने कहा था कि सबसे जरूरी चीज जनमत का आदर करना है। देश सियासत से ऊपर होता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: