US Pakistan Daniel Pearl| US Angry With Imran Khan Goverment (Pakistan) After Murder Accused Of US journalist Daniel Pearl Released | US जर्नलिस्ट डेनियल पर्ल के चार हत्यारे आतंकी रिहा, अमेरिका ने कहा- यह बहुत गंभीर मामला

  • Hindi News
  • International
  • US Pakistan Daniel Pearl| US Angry With Imran Khan Goverment (Pakistan) After Murder Accused Of US Journalist Daniel Pearl Released

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वॉशिंगटनएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
फोटो 2002 की है। तब अमेरिकी अखबार ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के पत्रकार डेनियल पर्ल को पाकिस्तान में अगवा किया गया था। बाद में उनका सिर कलम कर दिया गया था। चारों आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। अब इन्हें रिहा कर दिया गया है। - Dainik Bhaskar

फोटो 2002 की है। तब अमेरिकी अखबार ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के पत्रकार डेनियल पर्ल को पाकिस्तान में अगवा किया गया था। बाद में उनका सिर कलम कर दिया गया था। चारों आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। अब इन्हें रिहा कर दिया गया है।

पाकिस्तान के सिंध हाईकोर्ट ने अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की 2002 में हुई हत्या के चार दोषियों को रिहा करने के आदेश दिए हैं। पाकिस्तान की इस हरकत पर अमेरिका भड़क गया। अमेरिका ने कहा है कि यह बहुत गंभीर मामला है और इसे सहन नहीं किया जा सकता।

डेनियल पर्ल अमेरिकी पत्रकार थे। 2002 में वो आतंकी संगठनों पर एक इन्वेस्टिगेशन रिपोर्ट करने पाकिस्तान गए थे। इसी दौरान उन्हें अगवा किया गया। बाद में सिर कलम कर दिया गया था। इस मामले में चार आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था।

चारों आतंकी रिहा
पर्ल की हत्या के सिलसिले में चार आतंकियों अहमद उमर शेख, फहद नसीम, शेख आदिल और सलमान साकिब को गिरफ्तार किया गया था। ये सभी कथित तौर पर 18 साल से जेल में थे। लेकिन, सिंध हाईकोर्ट ने इनकी रिहाई के आदेश दिए और ये सभी जेल से बाहर भी आ गए।

देश से बाहर भी जा सकेंगे
पाकिस्तान सरकार के वकीलों ने इस केस में ऐसी पैरवी का हुनर दिखाया कि न सिर्फ इन्हें रिहा करा लिया बल्कि एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ECL) से भी इन चारों का नाम हटवा दिया। इसका मतलब ये हुआ कि अब ये चारों आतंकी बिना किसी रोकटोक के देश से बाहर भी घूम सकेंगे।

अमेरिका सख्त
दक्षिण एशिया के मामले देखने वाले अमेरिकी विदेश विभाग के विशेष मंत्रालय ने कहा- हम इन आतंकियों की रिहाई पर बहुत फिक्रमंद हैं। इन लोगों ने एक अमेरिकी नागरिक और पत्रकार की बेरहमी से हत्या की थी। हम हालात पर पैनी नजर बनाए हुए हैं। पर्ल के परिवार को इंसाफ दिलाना हमारी जिम्मेदारी है। इस तरह की चीजें सहन नहीं की जा सकतीं। 38 साल के पर्ल उस वक्त ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के लिए काम करते थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: