Adar Poonawalla Net Worth | World’s New Billionaires 2020 List Update; Adar Poonawalla, Cyrus Poonawalla | महामारी के बीच दवा कंपनियों को जबर्दस्त फायदा हुआ, इनके मालिक अरबपति बन गए

  • Hindi News
  • Business
  • Adar Poonawalla Net Worth | World’s New Billionaires 2020 List Update; Adar Poonawalla, Cyrus Poonawalla

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई21 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • फार्मा इंडस्ट्री से जुड़े कम से कम 50 लोग 2020 में बिलियनेयर बने
  • इनमें इंडस्ट्रियलिस्ट के अलावा साइंटिस्ट और प्रोफेसर भी शामिल

करोना महामारी ने दुनिया में कुछ लोगों को अरबपति भी बना दिया है। कुछ तो ऐसे भी हैं जिनके बारे में साल भर पहले कोई जानता तक नहीं था। इनमें इंडस्ट्रियलिस्ट के अलावा साइंटिस्ट और प्रोफेसर भी शामिल हैं। फोर्ब्स ने अपनी ताजा रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। रिपोर्ट के अनुसार 9 देशों के हेल्थकेयर सेक्टर से जुड़े 50 लोग ऐसे हैं जो 2020 में या तो अरबपति बन गए, या उनकी संपत्ति बेतहाशा बढ़ गई। इनमें सबसे ज्यादा 32 चीन के हैं, 7 अमेरिका के, 4 भारत के और 2 कनाडा के हैं। इनके अलावा जर्मनी, फ्रांस, इटली, स्विट्जरलैंड और डेनमार्क के एक-एक व्यक्ति हैं। यहां हम उन टॉप-5 लोगों के बारे में बता रहे हैं, जो पिछले साल पहली बार अरबपति बने।

1. उगुर साहिन
देश: जर्मनी

नेटवर्थ: 4.2 अरब डॉलर
उगुर साहिन बायोएनटेक के सीईओ हैं। बायोएनटेक ने फाइजर के साथ मिलकर कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाई है। इसे अमेरिकी रेगुलेटर एफडीए ने 95% इफेक्टिव माना है। साहिन के पास कंपनी के 17% शेयर हैं। पिछले साल शेयर भाव 250% तक बढ़ा है। इससे उनकी संपत्ति 4.2 अरब डॉलर हो गई है।

2. स्टीफन बैंसेल
देश: फ्रांस

नेटवर्थ: 4.1 अरब डॉलर
स्टीफन बैंसेल दवा कंपनी मॉडर्ना के सीईओ हैं। इस कंपनी की वैक्सीन को भी अमेरिका में मंजूरी मिली है। बैंसेल के पास कंपनी के 6% शेयर हैं। शेयर भाव पिछले साल 550% बढ़े तो उनकी संपत्ति 4.1 अरब डॉलर हो गई है। मॉडर्ना में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर टिमॉथी स्प्रिंगर और एमआईटी के साइंटिस्ट रॉबर्ट लैंगर का भी हिस्सा है। स्प्रिंगर की 3.5% इक्विटी की वैल्यू 1.6 अरब डॉलर है। लैंगर की होल्डिंग 3% है और इसकी वैल्यू 1.5 अरब डॉलर है।

3. हू कुन
देश: चीन

नेटवर्थ: 3.9 अरब डॉलर हुई
हू कुन कॉन्टेक मेडिकल सिस्टम्स के चेयरमैन हैं। यह कंपनी मेडिकल डिवाइस बनाती है। पिछले साल अगस्त में ही शेन्झेन स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हुई थी। उसके बाद इसके शेयर 150% चढ़ चुके हैं। हू कुन की संपत्ति 3.9 अरब डॉलर आंकी गई है।

4. कार्ल हैनसेन
देश: कनाडा

नेटवर्थ: 3 अरब डॉलर
कार्ल हैनसेन कनाडा की कंपनी एबसेलेरा के फाउंडर और सीईओ हैं। 11 दिसंबर 2020 को कंपनी के शेयर स्टॉक मार्केट में लिस्ट हुए थे। कंपनी में हैनसेन की हिस्सेदारी 23% है। लिस्टिंग के बाद शेयर प्राइस में गिरावट आई है। फिर भी हैनसेन की संपत्ति तीन अरब डॉलर है।

5. सर्जियो स्टीवानाटो
देश: इटली

नेटवर्थ: 1.8 अरब डॉलर
सर्जियो स्टीवानाटो की कंपनी है स्टीवानाटो ग्रुप। यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ग्लास वायल बनाने वाली कंपनी है। यह कोविड वैक्सीन बनाने में लगी 40 से अधिक कंपनियों को वायल बेच रही है। कंपनी लिस्टेड नहीं है। फोर्ब्स ने सर्जियो की संपत्ति 1.8 बिलियन डॉलर आंकी है।

लिस्ट में शामिल भारतीय

प्रेमचंद गोधा

नेटवर्थ: 1.4 अरब डॉलर
प्रेमचंद गोधा जेनरिक दवाएं बनाने वाली कंपनी इप्का लैब्स के सीएमडी हैं। कंपनी मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन भी बनाती है। पिछले साल अचानक इस दवा की बिक्री बढ़ गई थी। इससे एक साल में कंपनी के शेयर 90% बढ़ गए। गोधा की संपत्ति 1.4 अरब डॉलर है। हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन को पहले कोविड-19 के इलाज में प्रभावी बताया गया था। बाद में डब्लूएचओ ने कहा कि ऐसा नहीं है।

गिरधारी लाल बावरी, बनवारी लाल बावरी, राजेंद्र अग्रवाल

नेटवर्थ: 1.3 अरब डॉलर
तीनों भाई मैकलोड फार्मास्युटिकल्स के प्रमोटर हैं। मैकलोड अनलिस्टेड कंपनी है। यह अस्थमा, डायबिटीज और ओस्टोपोरोसिस की जेनरिक दवा बनाती है। बीते एक साल में इन भाइयों की नेटवर्थ 1.3 अरब डॉलर हो गई है।

साइरस पूनावाला

नेटवर्थ: 11.5 अरब डॉलर

साइरस पूनावाला सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के चेयरमैन हैं। उनका नाम फोर्ब्स की इस लिस्ट में नहीं है। वे पहले से अरबपति हैं। उनकी संपत्ति साल भर में दोगुनी हुई है। अभी यह 11.5 अरब डॉलर है। हुरून रिसर्च के अनुसार पिछले साल सबसे तेजी से नेटवर्थ बढ़ने के मामले में वे दुनिया में पांचवें नंबर पर थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: