Dholakia has 21 cases registered, kidnapped kid for ransom in Mumbai too | ढोलकिया पर 21 मामले हैं दर्ज, मुंबई में भी फिरौती के लिए बच्चे काे किया था अगवा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मोतिहारी15 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • 1 जनवरी को नासिक में धराया, रविवार को ट्रांजिट रिमांड पर मोतिहारी लाया गया

उतर बिहार का कुख्यात अपराधी हरसिद्धि थाना क्षेत्र के सिरसिया गांव निवासी कमरुद्दीन अंसारी उर्फ ढोलकिया को 18 वर्ष बाद मोतिहारी पुलिस की गुप्त सूचना के आधार पर गत शुक्रवार को मुम्बई पुलिस ने नासिक में गिरफ्तार किया था। उसे रविवार को ट्रांजिट रिमांड पर मोतिहारी लाया गया है। उक्त जानकारी एसपी नवीन चंद्र झा ने रविवार को अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि हाल के दिनों में शहर में कुछ लोगों से रंगदारी मांगे जाने की सूचना मिली थी।

इसके आधार पर वैज्ञानिक अनुसंधान में उसका टावर लोकेशन निकाला गया। इस दौरान कमरूद्दीन के नासिक में होने की जानकारी मिली। इसके आधार पर मुम्बई पुलिस के क्राइम ब्रांच से संपर्क कर उसे गिरफ्तार करा लिया गया। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान कमरुद्दीन ने कई अहम खुलासे किए हैं। इसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है। उसे न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड पर देने के लिए मांग रखेगी।

2002 में पेशी के दौरान कोर्ट से हुआ था फरार

एसपी ने बताया कि 2002 में कमरुद्दीन न्यायालय में पेशी के दौरान हथकड़ी सरका कर फरार हो गया था। तब से मोतिहारी पुलिस को उसकी तलाश थी। इसके बाद 2004 में तुरकौलिया में हथियार बरामद हुआ था। इसमें भी कमरुदीन का नाम सामने आया था।

खुलासा किया है कि वह 2005 से मुम्बई में रह रहा था। वहां नासिक में उसने शादी भी कर ली थी। उसे तीन छोटी-छोटी बेटी है। वहीं घर बनाकर रहता था। मुम्बई में उसने एक बच्चे का फिरौती के लिए अपहरण भी किया था।

एसपी बोले-टीम गठित कर की गई है ढोलकिया की गिरफ्तारी

एसपी ने बताया कि कमरुद्दीन पर हरसिद्धि थाना में लूट के दो व आर्म्स एक्ट का एक मामला, तुरकौलिया में रंगदारी, विस्फोट, मारपीट, लूट जैसे सात मामले, गोविंदगंज में लूट, हत्या, आर्म्स एक्ट के तीन, नगर थाना में लूट, हत्या, रंगदारी बस विस्फोट के छह, कोटवा में लूट का एक, पीपरा में मारपीट व आर्म्स एक्ट के मामले दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि आसपास के जिले की पुलिस से संपर्क स्थापित कर उसके उपर दर्ज कांडों के संबंध में पता लगाया जा रहा है।

एसपी ने बताया कि फरार चल रहे पुराने कुख्यात बदमाशों को पकड़ने के लिए टीम को लगाया गया है। कमरुद्दीन को पकड़ने वाली टीम में हरसिद्धि थानाध्यक्ष शैलेंद्र कुमार, तकनीकी शाखा प्रभारी मनीष कुमार, सिपाही मुन्ना कुमार, चिरंजीवी कुमार, नित्यानंद दूबे, विजय कुमार व पंकज कुमार को लगाया गया था। मौके पर सदर एसडीपीओ अरुण कुमार गुप्ता भी थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: