Electricity companies’ dues on discom rose by 35% to Rs 1.41 lakh crore in November | डिस्कॉम पर बिजली कंपनियों का बकाया नवंबर में 35% बढ़कर 1.41 लाख करोड़ रुपए हुआ

  • Hindi News
  • Business
  • Electricity Companies’ Dues On Discom Rose By 35% To Rs 1.41 Lakh Crore In November

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली23 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
नॉन- कंवेंशनल एनर्जी उत्पादक जैसे सोलर और पवन का बकाया नवंबर में 11,862.07 रहा।   - फाइल  फोटो - Dainik Bhaskar

नॉन- कंवेंशनल एनर्जी उत्पादक जैसे सोलर और पवन का बकाया नवंबर में 11,862.07 रहा।  – फाइल फोटो

बिजली उत्पादक कंपनियों का डिस्कॉम यानी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों पर बकाया पिछले साल नवंबर में 35% बढ़कर 1.41 लाख करोड़ रुपए रहा। यह 2019 की समान अवधि में 1.04 लाख करोड़ रुपए था। नवंबर में प्राप्ति (PRAAPTI) पोर्टल द्वारा यह जानकारी दी गई। पोर्टल को मई 2018 में बिजली कंपनियों और डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों के खरीद में पारदर्शिता के लिए लॉन्च किया गया था।

ग्रेस पीरियड के बावजूद डिस्कॉम पर 1.29 लाख करोड़ रुपए का बकाया

बिजली उत्पादक कंपनियों द्वारा 45 दिन के ग्रेस पीरियड के बावजूद नवंबर में डिस्कॉम पर 1.29 लाख करोड़ रुपए का बकाया रहा, जो 2019 के नवंबर में 93.21 हजार करोड़ रुपए था। ज्यादातर ऐसे मामलों में उत्पादक कंपनियां 45 दिन के ग्रेस पीरियड के बाद पीनल इंटरेस्ट चार्ज लगाती हैं। पोर्टल के मुताबिक पिछले साल नवंबर में मासिक आधार पर भी बढ़त दर्ज की गई। इससे पहले अक्टूबर में डिस्कॉम पर बिजली कंपनियों का बकाया 1.26 लाख करोड़ रुपए था।

देश प्रमुख राज्यों के डिस्कॉम का बकाया सबसे ज्यादा

बकाया मामलों में ज्यादातर डिस्कॉम राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, जम्मू एंड कश्मीर, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, झारखंड, हरियाणा और तमिलनाडु राज्यों से हैं। टोटल ओवरड्यू 1.29 लाख करोड़ रुपए में प्राइवेट कंपनियों की हिस्सेदारी 34.01% और सरकारी कंपनियों की हिस्सेदारी 34.27% है।

डिस्कॉम पर सरकारी बिजली उत्पादक कंपनियों का बकाया

कंपनी बकाया (रुपए में)
NTPC 19,215.97 करोड़
NLC इंडिया 6,932.06 करोड़
दामोदर वैली कॉर्पोरेशन 6,238.03 करोड़
NHPC 3,223.88 करोड़
THDC इंडिया 2,085.06 करोड़

डिस्कॉम पर प्राइवेट बिजली उत्पादक कंपनियों का बकाया

कंपनी बकाया (रुपए में)
अदाणी पावर 20,242.74 करोड़
ललितपुर पावर जनरेशन कंपनी 4,373.23 करोड़
GMR 2,195.12 करोड़
SEMB 2,168.45 करोड़

दूसरी ओर नॉन- कंवेंशनल एनर्जी उत्पादक जैसे सोलर और पवन का बकाया नवंबर में 11,862.07 रहा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: