People busy preparing for Makar Sankranti, devotees will dip faith in Kamala River on 14, Tilkut shops adorned | मकर संक्रांति की तैयारी में जुटे लोग, 14 को कमला नदी में श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी, तिलकुट की दुकानें सजीं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयनगर15 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
मकर संक्रांति को लेकर बाजार में खुली तिलकुट की दुकान। - Dainik Bhaskar

मकर संक्रांति को लेकर बाजार में खुली तिलकुट की दुकान।

  • खरमास खत्म हाेते ही मांगलिक कार्य शुरू हाे जाएंगे, सूर्य के उत्तरायण हाेने के साथ ही बढ़ने लगेगा दिन

मकर संक्रांति की तैयारी को लेकर शहर में रौनक बढ़ गई है। 14 को कमला में हजारों श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएंगे। इसी दिन सूर्य धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। मकर संक्रांति प्रगति व ऊर्जा का प्रतीक है। एक राशि को छोड़कर दूसरे राशि में प्रवेश करने की इस विस्थापन क्रिया को ही संक्रांति कहते है। सूर्य की राशि में हुए परिवर्तन को अंधकार से प्रकाश की ओर अग्रसर माना जाता है। मकर संक्रांति सिखाता है कि परिवर्तन ही अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाता है।

यहां प्रकाश व अंधकार से मतलब सूर्य के उत्तरायण और दक्षिणायन से है। इस दिन से मलमास खत्म हो जाने से शुभ माह प्रारंभ हो जाता है। इस खास दिन को सुख व समृद्धि का दिन माना जाता है और इसी दिन से विभिन्न प्रकार के मांगलिक कार्य शुरू हो जाते हैं।

मकर संक्रांति पर दान करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति हाेती है

शास्त्रों के अनुसर मकर संक्रांति के अवसर पर गरीबों व जरूरतमंदों को खिचड़ी, तिल, चूड़ा-दही, वस्त्र व अन्य सामान दान करने और नदिया में स्नान करने तथा सूर्य देव की पूजा अर्चना करने से कई गुना पुण्य प्राप्त होता है। मकर संक्रांति पर मकर राशि में कई महत्वपूर्ण ग्रह एक साथ गोचर करेंगे। इस दिन सूर्य, शनि, गुरु, बुध और चंद्रमा मकर राशि में रहेंगे जो शुभ योग का निर्माण करते हैं। इसलिए इस दिन किया गया दान और स्नान जीवन में सुख और समृद्धि प्रदान करता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: