Veterinary will now reach villages through telemedicine | टेलीमेडिसिन से अब गांवों में पहुंचेगी पशु चिकित्सा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भभुआ16 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • पशुपालकों को होगी सहूलियत, बैठक में तय कर क्रियान्वयन के लिए दिशा निर्देश दिए गए

अब तक कई विभागों की सुविधाएं पेपरलेस तरीके से ऑनलाइन मोड में लोगों तक पहुचाने की व्यवस्था की जा रही है। अब पशु चिकित्सा भी इसी विधि से गांवों तक पहुचेगी। इसकी तैयारी विभाग ने शुरू कर दिया है। शीघ्र ही इसके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर धरातल पर लाई जाएगी। पशुपालन विभाग की उच्चस्तरीय बैठक में तय कर क्रियान्वयन के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं।पशुपालन विभाग की आधीकारिक जानकारी के मुताबिक टेलिफोनिक पशु चिकित्सा का प्रबंध पहले से भी की जा रही है।

क्योंकि चिकित्सकों की कमी के चलते इलाज के लिए बुलावे पर चिकित्सक उपलब्ध नही होबप रहे है।ऐसे में लक्षणों के आधार पर पशुपालकों को टेलिफोनिक जानकारियां दी जा रही है। हालांकि जिला मुख्यालय के पशु अस्पताल में 24 घंटे आपातकालीन सेवा का व्यवस्था की गई है।

पंचायतों में पहुचाई जा रही हाईस्पीड इंटरनेट

बता दें कि जिले की सभी पंचायतों में हाई स्पीड इंटरनेट की सुविधा पहुचाई जानी है। तेजी इस फाइबर गांवों तक पहुव्है जा रहा है। उम्मीद है कि मार्च महीने तक तेज गति इंटरनेट की पहुच जिले के सभी गांवों तक पहुच जाएगी। तब यह व्यवस्था आसानी से पशुपालकों तक पहुंच सकेगी।जिले के पहाड़ी प्रखंड अधौरा को छोड़कर अन्य सभी प्रखंड मुख्यालय तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाई जा चुकी है।

सीएसी माध्यम बन सकती है

सीएससी सुविधाओं की गांवों तक पहुच के लिए माध्यम बन सकता है। बताया गया है कि उच्च स्तरीय विभाग की बैठक इस तथ्य पर विमर्श किया गया है।

पशुपालकों तक पहुचाई जा रही सुविधाएं

जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉक्टर अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि टेलीमेडिसिन की सुविधा से पशुपालको को सुविधाएं पहुचाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: