Schools from 1st to 5th will reopen in Bihar from March 01, students from 1st to 8th will be promoted without examination | बिहार में 01 मार्च से दोबारा खुलेंगे पहली से पांचवी तक के स्कूल, एक से 8वीं तक के स्टूडेंट्स बिना परीक्षा होंगे प्रमोट

  • Hindi News
  • Career
  • Schools From 1st To 5th Will Reopen In Bihar From March 01, Students From 1st To 8th Will Be Promoted Without Examination

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना की वजह से बिहार में बंद पड़े पहली से पांचवी तक के स्कूल दोबारा खोले जाएंगे। बिहार सरकार ने अगले महीने से राज्य के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल खोलने का फैसला किया है। मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया कि राज्य में 01 मार्च से प्राइमरी क्लासेस के लिए राज्य के सभी निजी और सरकारी स्कूलों को कोरोना नियमों के साथ खोला जाएगा।

15 दिनों के बाद स्थिति की होगी समीक्षा

स्कूल खुलने के 15 दिनों के बाद दोबारा स्थिति की समीक्षा की जाएगी। इसके बाद फैसला लिया जाएगा कि इन बच्चों के लिए क्लासेस जारी रखी जाए या नहीं। इस दौरान कोरोना गाइडसाइंस का पालन करते हुए रोजाना क्लास में सिर्फ 50 फीसदी बच्चों की ही उपस्थिति होगी। इससे पहले प्रदेश में कक्षा 9वीं से 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए स्कूल 04 जनवरी से खोल दिए गए थे। इसके बाद 8 फरवरी से कक्षा 6 से लेकर 8 तक के बच्चों के लिए भी स्कूल खोले गए। जिसके बाद अब 01 मार्च से प्राइमरी स्कूलों को खोला जाएगा।

बिना परीक्षा प्रमोट होंगे एक से 8वीं तक स्टूडेंट्स

राज्य शिक्षा विभाग ने कोरोना के कारण पढ़ाई में हुए नुकसान के मद्देनजर कक्षा पहली से 8वीं तक के स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा प्रमोट करने का फैसला किया है। शिक्षा विभाग ने फैसला किया है कि सरकारी स्कूलों में सेशन 2020-21 में पहली से आठवीं तक के सभी स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा की अगले क्लास में प्रमोट किया जाएगा।

इस बारे में शिक्षा विभाग ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर जानकारी दी। शिक्षा विभाग ने जानकारी दी कि नए सेशन में 3 महीने के लिए विशेष ‘CATCH UP COURSE’ क्लासेस चलेंगी, जिसके जरिए पिछले साल पढ़ाई में हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें-

एडमिशन अलर्ट:नर्सरी में एडमिशन के लिए आयु सीमा में मिली एक महीने की छूट, 4 मार्च तक कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस 2021:UNESCO ने नवंबर 1999 में की थी इस दिन की शुरुआत, मातृभाषा के अस्तित्व को बनाए रखने के लिए देश में होंगे यह बदलाव

Leave a Reply

%d bloggers like this: