JDU president RCP said: Make JDU stronger at booth | जदयू अध्यक्ष आरसीपी बोलेः जदयू को बूथ पर सबसे ज्यादा मजबूत करें

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते आरसीपी। - Dainik Bhaskar

प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते आरसीपी।

  • विचारधारा व तकनीक से लैस होंगे कार्यकर्ता, युवाओं को जोड़ें

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि जदयू कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर तक पार्टी की विचारधारा, नेता के कार्यक्रम व नई तकनीक से लैस किया जाएगा। पार्टी को बूथ पर सबसे अधिक मजबूत करना है। पंचायत, प्रखंड, जिला और प्रदेश संगठन का मूल्यांकन इस बात से किया जाएगा कि बूथ पर आप कितने सशक्त और सक्रिय हैं? वे रविवार को पार्टी के प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा-नीतीश कुमार के विकसित बिहार का सपना हम सबकी आंखों में होना चाहिए। उन्होंने बिहार में जिस व्यावहारिक समाजवाद की स्थापना की है, हरेक कार्यकर्ता न केवल इसे समझे बल्कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में जो सीख रहे हैं, उसे बांटें भी।

खासकर नई पीढ़ी को सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए अधिक से अधिक जोड़ें। पार्टी को आगे बढ़ाने के लिए अब हमें प्रतिज्ञा लेने की जरूरत है, क्योंकि संकल्प मन में लिया जाता है जबकि प्रतिज्ञा सार्वजनिक तौर पर ली जाती है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मार्गदर्शन एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह के नेतृत्व में हमें जदयू के संगठन को नई ऊंचाई देनी है। मंगनीलाल मंडल ने कहा कि व्यावहारिक समाजवाद हिन्दुस्तान से गुम हो गया था। नीतीश कुमार ने इसे पुनर्जीवित किया।

व्यावहारिक समाजवाद, संगठन की कार्यप्रणाली व सामुदायिक संचार पर हुई चर्चा
मंगनीलाल मंडल ने व्यावहारिक समाजवाद, रवीन्द्र सिंह ने संगठन की कार्यप्रणाली, डॉ. अमरदीप ने सोशल मीडिया, आरआर कल्याण ने सामुदायिक संचार तथा मुकेश कुमार ने सामूहिक नेतृत्व विषय पर प्रशिक्षण दिया। ललन सर्राफ, डॉ. नवीन कुमार आर्य, डॉ. सुहेली मेहता, श्वेता विश्वास, अप्सरा मिश्रा ने भी विभिन्न विषयों पर अपनी राय रखी।

संचालन जदयू प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुनील कुमार ने की। इस दौरान प्रो. रामवचन राय, संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी, अनिल कुमार, चंदन कुमार सिंह, परमहंस कुमार, डॉ. विपिन यादव, अशोक कुमार बादल, नंदकिशोर कुशवाहा, कामाख्या नारायण सिंह, अरविंद निषाद, अरुण कुशवाहा, आसिफ कमाल, रामगुलाम राम, मृत्युंजय कुमार सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: