People said – first remove garbage from the streets, the meeting of the builder and society took place in the corporation auditorium | लोग बोले-पहले गलियों से कचरा तो हटाइए, निगम सभागार में हुई बिल्डर और सोसायटी की बैठक

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhagalpur
  • People Said First Remove Garbage From The Streets, The Meeting Of The Builder And Society Took Place In The Corporation Auditorium

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागलपुर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • निगम ने भवनों से निकलने वाले कूड़े के प्रबंधन को लेकर सोसायटी व बिल्डर से की चर्चा

बड़ी इमारतों से निकलने वाले कचरे को सेग्रीगेट कर निपटारा करने को निगम अफसरों ने रविवार को बिल्डर और अपार्टमेंट की सोसायटी से चर्चा की तो लोगों ने निगम को ही घेर लिया। निगम अफसरों ने छतों पर कचरे से खाद बनाने की योजना बताई तो लोगों ने कहा, पहले आप लोग गलियों से तो कचरा साफ कीजिए।

अपार्टमेंट जाने से पहले गलियों में पैर रखते हैं तो कचरा ही नजर आता है। इसी कचरे पर पैर रखकर आगे जाना पड़ रहा है। इस प्रबंधन को ठीक कीजिए। इसके बाद छतों पर कचरे से खाद बनाने पर बात कीजिए। दरअसल, नगर निगम के सभागार में शहर के बिल्डर और अपार्टमेंट की सोसायटी से कचरा प्रबंधन पर निगम अफसर चर्चा कर रहे थे। कचरा प्रबंधन के लिए वे जागरूकता फैलाने की कोशिश कर रहे थे। हालांकि बैठक में महज दर्जनभर ही लोग आए।

छत पर कचरा जमा करेंगे तो ढलाई हो जाएगी खराब
बैठक में तिलकामांझी क्षेत्र के एक अपार्टमेंट में रहने वाले व्यक्ति ने कहा, हम लोग कचरा प्रबंधन के लिए तैयार हैं। अधिकतर लोगों ने यह भी कहा कि अपार्टमेंट के चारों ओर जगह छोड़कर रखा जाएगा, तभी कचरे से खाद बनाई जा सकती है। लेकिन कचरा जब छत पर जमा होगा तो इससे दुर्गंध भी आएगी। कुछ रिसाव भी होगा। इससे छत खराब हो सकती है। इसकी ढलाई पर असर पड़ेगा। लोगों ने कहा, अधिकतर सोसायटी इस प्रबंधन पर सहमति नहीं देगी। यह मामला किसी एक व्यक्ति का नहीं है।

अगली बैठक में होगी रणनीति पर चर्चा
उप-नगर आयुक्त सत्येंद्र प्रसाद वर्मा ने अपार्टमेंट में रहने वालों को कचरा प्रबंधन और कचरे से खाद बनाने की जानकारी दी। सिटी मैनेजर रवीशचंद्र वर्मा, मो. सब्बीर, कांग्रेस नेत्री सुनंदा रक्षित, निशांत भगत की मौजूदगी में निगम अफसरों ने कहा, यह प्राथमिक बैठक है। अगली बैठक में इसकी योजना पर चर्चा होगी। इसके बाद रणनीति को जमीन पर उतारने की कोशिश होगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: