Hearing the news of the death of Inspector son in mob lynching, the mother also succumbed in shock | मॉब लिंचिंग में इंस्पेक्टर बेटे की मौत की खबर सुनकर सदमे में मां ने भी तोड़ा दम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पूर्णिया5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सीएम ने किशनगंज के शहीद थानाध्यक्ष के भाई से बातचीत कर जताई संवेदना

पश्चिम बंगाल के पांजीपाड़ा के पंतापाड़ा गांव में ड्यूटी के दौरान मॉब लिचिंग में बेटे अश्विनी कुमार के शहीद होने का सदमा मां बर्दाश्त नहीं कर सकी। बेटे की मौत की खबर सुनने के 14 घंटे बाद ही रविवार सुबह छह बजे मां उर्मिला देवी (72) ने दम तोड़ दिया। शनिवार दोपहर 3.45 बजे अश्विनी कुमार की मां जब मायके रामपुर तिलक से लौटी तो लोगों ने उन्हें इसकी सूचना दी। रविवार दोपहर गार्ड ऑफ ऑनर देने के साथ पूरे सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी गई। मां-बेटे की एक साथ अर्थी उठी। हजारों लोग शवयात्रा में शामिल हुए।

एक साथ मां-बेटे की चिता जलता देख लोग अपने आंसू रोक नहीं पाए। उनके इकलौते बेटे सात वर्षीय पुत्र वंश ने मुखाग्नि दी। इसके साथ ही वे पंचतत्व में विलीन हो गए। मां को उनके छोटे बेटे प्रवीण कुमार ने मुखाग्नि दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शहीद के छोटे भाई प्रवीण कुमार से बातचीत कर अपनी संवेदना जताई। उन्होंने हरसंभव मदद का भरोसा दिया। सीएम ने बच्चों की पढ़ाई के साथ-साथ हरसंभव मदद करने की बात कही।

बेटी ने पिता को सैल्यूट कर किया विदा, कहा-आपके सपनों को साकार करूंगी

अंतिम संस्कार से पहले बेटी नैंसी ने अपने शहीद पिता को सैल्यूट किया। कहा-बाय-बाय डैडी, मैं अपने कठिन परिश्रम से आपके सपनों को जरूर साकार कर दिखाऊंगी। दुःख इस बात की है कि आप इतनी जल्दी कैसे हमलोगों को छोड़कर विदा हो रहे हैं। आप जाने से पहले ये तो बताकर जाइए। मम्मी, ग्रेसी व अंश कैसे रहेंगे?

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

%d bloggers like this: